Rajasthan Tourists Place Importent Fact For All Goverment Exam

Rajasthan tourist Place

सरकारी परीक्षाए  जैसे RRB NTPC RRB Group D And other RRB Exam, CTET, UPTET B.Ed,  Uttar Pradesh Governments Exam and other state Exam, and SSC Exam  में Science  एक महत्वपूर्ण विषय है, जिसमें से  सभी परीक्षाओं में अधिक्तर प्रश्न पूछे जाते है। विज्ञान के वन लाइनर्स की  आपको बहुत सारी वेबसाइट मिल जायेगी लेकिन ये सभी इंग्लिश में रहती है और हिन्दी में जो मिलती है उसमें न के बराबर कन्टेंट रहते है, नाइस कान्सेप्ट आपके लिए लेकर आया सभी Science  Science one liners  के रुप में जो  हिन्दी  में बारीक से बारीक डेटा को कवर करतें    
निर्माण कर्ता स्थान वर्ष
1 जन्तर-मन्तर सवाई जय सिंह जयपुर 1724 ई.
2 हवा महल सवाई प्रताप सिंह जयपुर 1799 ई.
3 अजमेर शरीफ सुल्तान ग्यासुद्दीन अजमेर 1464 ई.
4 विजय स्तम्भ महाराणा कुम्बा चितौड़गढ 1448 ई.
5 दिलवाड़ा जैन मंन्दिर विमल शाह माउण्ट आबू 1031 ई.
6 छत्र महल रानी छत्रसाल बुन्दी फोर्ट 1531 ई.
7 डीग महल राजा चन्दन सिंह डीग 1765 ई.
8 अढ़ाई दिन का झोपड़ा कुतुबुद्दीन ऐबक अजमेर 1199 ई.

जन्तर मन्तरः-

जन्तर मन्तर सवाई जय सिंह द्वारा 1724 से 1734 ई. बनाया गया था

यह एक खगोलीय वेदशाला है

यह युनेस्को के विश्व धरोवर सूची में शामिल है

हवा महलः-

यह एक राजसी राज महल है

इसे 1999 ने सवाई प्रताप सिंह ने बनवाया था

इसे किसी ‘राजमुकुट’ की तरह वास्तुकार लाल चंद उस्ता द्वारा डिजाइन किया गया था।

यह पांच मंजिला स्मारक है इसके आधार से ऊचाई 50 फीट है

इसका निर्माण चुने लाला एवं गुलाबी बलुआ पथ्थर द्वारा किया गया है

अजमेर शरीफः-

यह प्रसिद्ध सुफी मोइनुद्दिन चिश्ती ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह है

इसमे इनका मकबरा है

अजमेर शरीफ का मुख्य द्वार निजाम गेट कहलाता है क्योकि इसका निर्माण निजाम मीर उस्मान अली खाँ ने करवाया था

विजय स्तम्भः-

विजय स्तम्भ राजस्थान के चितौड़गढ में स्थित है

यह राजस्थान पुलिस तथा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का प्रतीक चिन्ह भी है

यह 120 फीट ऊचा है

यह 9 मंजिला है

इसे डमरू के आकार में बनाया गया है नीचे से चौड़ा बीच में सकरा तथा ऊपर चौड़ा कर दिया गया है

इसे हिन्दु देवी देवताओं का अजायब घर भी कहते है

इस इमारत को कीर्ति स्तम्भ से भी जाना जाता है

इसमे ऊपर तक जाने के लिए 157 सीढ़िया भी बनी है

इसे विष्णु स्तम्भ भी कहा जाता है

दिलवाड़ा जैन मंदिरः-

यह राजस्थान के सिरोही जिले के माउंटआबू नामक नगर में स्थित है

यह पांच मंदिरो का समूह है

इन मंदिरो का निर्माण ग्यारह तथा तेरहवी शताब्दी के बीच हुआ है

यह मन्दिर जैन धर्म को समर्पित है

इस मंदिर का निर्माण राजा वास्तुपाल तथा तेजपाल नामक दो भाइयो ने करवाया था

डीग महलः-

डीग का प्राचीन नाम दीर्घापुर है

यह भरत पुर जिले का प्रीचनतम शहर है

किले का मुख्य आकर्षक यहां का निगरानी बुर्ज(वाच टावर) है जहां से आप पूरे शहर की निगरानी कर सकते है

डीग को भरतपुर की राज्य की पहली राजधानी ठाकुर बदन सिंह ने बनाया था

अढ़ाई दिल का झोपड़ाः-

यह अजमेर नगर में स्थित एक मस्जिद है

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.