This image represent to mouse

about the mouse in hindi

Mouse  कम्प्युटर का बहुत ही महत्वपूर्ण भाग होता है क्योकि यह हमारे कम्प्युटर में उपस्थित सभी फाइल को तेजी से ओपेन करता है और इनमे उपस्थित किसी भी एप्लीकेसन साफ्टवेयर के टूल को आसानी से एक्सेस करते है। इसकी वजह से  यह हमारे कम्प्युटर का महत्वपूर्ण भाग है इसलिए इससे सम्बन्धित बहुत सारे प्रश्न  आपके परीक्षा जैसे ccc, bank Railway, SSC , State Goverment exam or Central Government exam or Private Exam Etc में पूंछे जाते है।  आइये इसके बारे हम विस्तार से जानते है

माउस(Mouse)-

यह कम्प्युटर के हार्डवेयर का एक भाग जिसका इस्तेमाल इनपुट डिवाइस के रुप में किया जाता है इसके प्रयोग से कम्प्युटर पर होने वाले एक्सन को आसान बनाया जाता है। इसमे तीन प्रकार के बटन होते है जिनकी सहायता से कम्प्युटर की कार्यविधि को आसान बनाया जाता है। यदि यह Mouse  न होता तो कम्प्युटर पर काम करना काफी कठिन होता। माउस पहले वर्जन को सर्वप्रथम 1968 में प्रदर्शित किया गया था। आइये माउस के बारे में विस्तार से जानते है।

माउस क्या होता है(What is the Mouse)-

माउस एक इनपुट डिवाइस है इसको हम प्वाइंटिंग डिवाइस के नाम से भी जानते है। इसके द्वारा कम्प्युटर को आदेश देने का काम किया जाता है।

माउस का इतिहास(History of Mouse)-

माउस का आविष्कार उस समय किया गया जब कम्प्युटर का आकार एक कमरे के बराबर होता था उस समय तक कीबोर्ड की सहायता से कम्प्युटर पर काम किया जाता था। माउस के आविष्कार से कम्प्युटर में नई क्रांति का जन्म हुआ क्योकि माउस के आविष्कार से कम्प्युटर में कार्य करने की गति तेज हो गयी।

माउस की खोज-

पहली बार माउस को 1968 में प्रस्तुत किया गया था तब इसको बग के नाम से जानते थे लेकिन इन्होने इसका आविष्कार 1960 में किया था। डगलस माउस के आलावा 45 और आविष्कारों का पेटेंट है। इनके स्केच के आधार बिल इंग्लिस ने 1963 में लकड़ी का माउस बनाया था जिसको चलाने के लिए दो पहिये का प्रयोग किया गया था।

जैक हॉली जो बिल इंगलिस डगलस के काम से प्रभावित थे। इन्होने उसी को आधार मानकर 1972 में पहला डिजिटल माउस जीरॉक्स पार्क को डिजाइन किया । जो सीधे सूचना को भेजता था। इस माउस में एनॉलाग सिग्नल को डिजिटल में बदलने की जरुरत नही पड़ती थी। इस माउस में पहली बार जिस बॉल का प्रयोग किया गया था वह मेटल की बॉल थी।

माउस का पहली बार प्रयोग-

माउस के प्रदर्शन के लगभग 20 साल बाद 1981 में 8010 कम्प्युटर के साथ इसको बाजार में उतारा गया था। उस समय इस कम्प्युटर की कीमत 16000 डॉलर थी। इसमें जो माउस का प्रयोग किया गया था उसमे एक बाल दो बटन होते थे।

माउस के प्रकार-

मुख्यतः माउस दो प्रकार के होते है –

1-मकैनिकल माउस-

This image represent to optical mouse

इस प्रकार के माउस की खोज बिल इंगलिस द्वारा किया गया था। इस प्रकार के माउस में बाल का प्रयोग किया गया था जिसमे बाल के मूव करने पर ही कर्सर मूव करता था। इस प्रकार के माउस में सेन्सर लगा होता था जैसे ही माउस को इधर उधर ले जाते है वैसे सेन्सर के द्वारा पता चल जाता था कि बाल मूव कर रहा है।

2- आप्टिकल माउस-

This image represent to ps2 mouse

आप्टिकल माउस में रबर बॉल के स्थान पर LED(Light Emitting Diode) का इस्तेमाल किया जाता था। इस प्रकार के माउस में माउस के मूवमेन्ट को आप्टिकल सेन्सर के मदद से ट्रैक किया जाता था। इस समय इसी प्रकार के माउस का प्रयोग किया जाता है। इस प्रकार के माउस को हम कपड़े, फर्श, लकड़ी कर सकते है। यह विभिन्न प्रकार के होते है। इस प्रकार के माउस को पहली बार माइक्रोसाप्ट द्वारा 1999 में पेश किया गया था।

1-वायर माउस

इस प्रकार के माउस मे वायर का प्रयोग किया जाता है क्योकि इस वायर की सहायता से ही कम्प्युटर से सिग्नल माउस तक जाता है।

यह दो प्रकार के होते है

1-USB Mouse-

This image represent to usb mouse

इस समय लगभग सभी कम्प्युटर में Universal Serial Bus मतलब  USB  माउस का प्रयोग किया जाता है  क्योकि  USB Mouse का प्रयोग अन्य डिवाइसो में  आसानी से कर सकते है  इस तरह के माउस को नोटपैड, मोबाइल, कम्प्युटर, लैपटाप आदि में  आसानी से  कर सकते  है।

2-PS/2 Mouse

This image represent to ps2 mouse

इस प्रकार के माउस का प्रयोग इस समय नही किया  जाता है क्योकि इस समय सभी कम्प्युटर में USB  माउस का प्रयोग किया जाता है। PS/2 का  डेवलप IBM द्वारा1987 में किया गया था। इस 6 पिन का प्रयोग किया जाता है। जो कम्प्युटर और माउस के बीच सीग्नल का आदान प्रदान करते है। यदि कोई भी पिन ब्रेक हो जाती है तो यह माउस काम करना बंद कर देता है।

प्रोसेसर के बारे में जाने

SSD के बारे में जाने

SMPS के बारे में जाने

रोम के बारे में जाने

रैम के बारे में जाने

 

2-वायरलेस माउस

This image represent to wireless mouse

इस प्रकार के माउस में वायर का प्रयोग नही किया जाता है। इस प्रकार के माउस का प्रयोग करने के लिए मेडियेटर की आवश्यकता पड़ती है जैसे ब्लयुटूथ

माउस के द्वारा कम्प्युटर में सिग्नल भेजने के लिए माउस में बैटरी का होना आवश्यक होता है जो माउस को ऑन करता है।

3-टच पैड माउस

Touch pad mouse

यह भी एक प्रकार का इनपुट डिवाइस होता है इस प्रकार के टचपैड का प्रयोग लैपटाप या कुछ की-बोर्ड में प्रयोग किया जाता है। इस प्रकार के टच पैड में अंगुलियो के सहारे करसर को मूव कराया जाता है।

4-गेमिंग माउस

This image represent to gaming mouse

 

गेमिंग माउस अन्य माउस से अलग होते है क्योकि जो नार्मल माउस होते है उन्मे तीन बटन होते है जबकि गेमिंग माउस में तीन से अधिक बटन होते है जो अलग अलग काम करते है।

5- ब्लयुट्रूथ माउस-

This image represent to blutooth mouse

इस प्रकार का माउश वायरलेस की श्रेणी में आता है ब्लयुट्रुथ माउस का रेजं अधिकत्तम 10 मीटर होता है। इस प्रकार के माउस में रेंज जितना अधिक होगा काम करने की क्षमता उतनी घटती जाती है।

6-लेसर माउस-

इस प्रकार माउस भी वायरलेस की श्रेणी में आता है। इसमे माउस के मूवमेन्ट के लिए लेजर लाइट का प्रयोग किया जाता है। आप्टिकल माउस की तरह इसमे कोई मूवमेन्ट वाला पार्ट नही होता है। यह आप्टिटकल की तुलना मे अच्छी तरह काम करता है। इसका प्रयोग 1998 मे सन माइक्रोसिस्टम द्वारा पहली बार किया गया था। 2004 में लॉजिटेक द्वारा पहली व्यसाहियक उपयोग किया गया था। इस प्रकार के माउस कास्टली होते है। इसका रेजोजल्युशन 6000 DPI होता है।

7- ट्रैक बाल माउस-

This image represent to track ball mouse

यह अन्य माउस से अलग होता है इसमे माउस के बाये साइड में एक रबर की बाल होती है जहां प र अंगुठे की पकड़ होती है। इसके अलावा इसमे तीन और बटन होती है जो लेफ्ट राइट और स्क्राल के लिए प्रयोग करते है।अन्य माउस में कर्सर को मूव करने के लिए माउस के स्थान को परिवर्तन करना होता है लेकिन इस माउस जो बाल रहता है उसको मूव करना होता है।

8- 3डी माउस-

This image represent to 3D image

3डी माउस को पहली बार 1990 के दशक के अंत में कैनटक द्वारा पेश किया गया था। इस प्रकार के माउस को अपनी अंगुली में पहन सकते है इसमे ब्लूट्रूथ आप्शन दिया गया है जिसकी सहायता से मन चाहा काम कर सकते है। इसको 30 फीट की दूरी से प्रयोग कर सकते है।

9-फिंगर माउस-

This image represent to finger mouse

इस प्रकार के माउस को हथेली की बीच वाली अंगुली में पहन कर प्रयोग कर सकते है। इसका कुल भार 35 ग्राम होता है। इसमे लेफ्ट या राइट बटन को प्रेस करने के लिए अगुंठे का प्रयोग किया जाता है।

10- पेन माउसThis image represent to pen mouse

 

इस प्रकार के पेन को GSTick Pen के नाम से जानते है। इस प्रकार के पेन का प्रयोग गेम, डिजटल डिजाइन या ग्राफिक्स में किया जाता है । वायरलेस जीस्टिक्स पेन विन्डोज, मैक, लिनक्स पर काम करता है इसकी संवेदनशीलता 1200 DPI है।

माउस बनाने वाली प्रमुख कंपनी-

भारत में माउस जिन कंपनी के अधिक लोगो द्वारा प्रयोग किये जाते है वो निचे दिये गये है।

  • HP
  • Dell
  • Lenovo
  • Logitech
  • Eleven
  • Zebronic
  • Razer DeathAdder
  • ProDot
  • Ant Esports
  • Quantum

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!